early symptoms of pregnancy

प्रेगनेंसी के शुरुवाती 5 मुख्य लक्षण

Health care

 

प्रेगनेंसी के दौरान कुछ ऐसे शुरुवाती शारीरिक लक्षण और संकेत होते हैं जो एक महिला को गर्भवती होने की ओर इशारा करते हैं।ज्यादातर महिलाएं प्रेगनेंसी के शुरुआती लक्षण को नहीं पहचान पाती हैं,यह कहना भी पूरी तरह ठीक नहीं होगा की शुरुवाती लक्षण जरूर महसूस होते हैं।लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला अपने शरीर पे ध्यान दे तो इससे प्रेगनेंसी का पता आसानी से लगाया जा सकता हैं,इसलिए आज हम इस लेख के माध्यम से प्रेगनेंसी के शुरुवाती 5 मुख्य लक्षण के बारे में बताने जा रहें हैं।

 

प्रेगनेंसी के शुरुवाती 5 मुख्य लक्षण-

1.गर्भाशय से हल्के रक्त का बहना(स्पॉटिंग)-

हल्के रक्त का स्राव होना
early symptoms of pregnancy

प्रेगनेंसी के शुरवाती दिनों में गर्भाशय से हल्का रक्तस्त्राव होना या रक्त का बहना प्रेगनेंसी का शुरवाती मुख्य लक्षण हैं।क्योंकि पुरुष और महिला के बीच निषेचन प्रकिया में पुरूष के शुक्राणु (स्पर्म) महिला के अण्डाणु से मिलते हैं तो भ्रूण का निर्माण होता हैं,भ्रूण 6 से 12 दिनों के बीच में गर्भाशय से जुड़ता हैं।इसलिए इस दौरान गर्भाशय से हल्के रक्त का स्राव होता हैं।भ्रूण बनने के दौरान इस तरह गर्भाशय से हल्के रक्त का बहना सामान्य बात हैं,इस दौरान महिला को ऐंठन भी महसूस हो सकती हैं। इसलिए महिला को इस तरह के प्रेगनेंसी के शुरुवाती लक्षण से घबराने की जरूरत नहीं हैं।इस प्रक्रिया को स्पॉटिंग के नाम से भी जाना जाता हैं।

 

2.प्रेगनेंसी का शुरुवाती लक्षण जी मिचलाना

(मॉर्निंग सिकनेस)-

जी मचलाना
early symptoms of pregnancy

प्रेगनेंसी के दौरान महिला का जी मिचलाना यानी मॉर्निंग सिकनेस एक मुख्य व सामान्य लक्षण हैं।जी मिचलाने में विशेषज्ञों के अनुमान के अनुसार यह समस्या 75 से  85 प्रतिशत महिलाओं में देखी जा सकती हैं।महिलाओं में जी मिचलाने की समस्या पूरे दिन में किसी भी टाइम हो सकती हैं।सामान्यतः जी मिचलाने की समस्या प्रेगनेंसी के पहले और दूसरे महीने तक ही होती हैं।लेकिन कुछ महिलाएं इस समस्या से पूरी प्रेगनेंसी के दौरान परेशान रहती हैं।जी मिचलाने के दौरान उल्टी होती हैं लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी भी होती हैं जिनकों उल्टी नहीं भी होती हैं।बार-बार जी मिचलाने की समस्या को मॉर्निंग सिकनेस के नाम से भी जाना जाता हैं।

 

3. पीरियड्स आने बंद होना-

पीरियड्स आने बंद होना 
early symptoms of pregnancy

प्रेगनेंसी के दौरान पीरियड्स आने बंद हो जाना प्रारम्भिक सम्भावित संकेत माना जाता है।अगर महिला के पीरियड्स सामान्य दिनों की तरह नियमित रूप से न आये या आने बंद हो जाये तो इस स्थिति को प्रेगनेंसी का मुख्य लक्षण माना जा सकता हैं।कुछ महिलाओं को पीरियड्स के निश्चित समय के बाद बहुत कम रक्तस्राव हो सकता हैं यानी खून का कम निकलना,ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि इस समय गर्भाशय में भ्रूण का निर्माण हो रहा होता हैं।इसलिए अगर महिला को सामान्य रूप से पीरियड्स नहीं होते हैं तो प्रेगनेंसी टेस्ट कराना जरूरी हैं।

4.महिला के स्तनों में सूजन और दर्द का होना-

महिला के स्तनों में सूजन व दर्द होना 
early symptoms of pregnancy

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के स्तनों में बदलाव होते हैं,ऐसे में महिला के स्तनों में सूजन होना व दर्द होने के लक्षण देखे जा सकते है।इस दौरान महिला को अपने स्तनों में भारीपन,संवेदनशीलता,दर्द व सूजन महसूस होती हैं,ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि इस दौरान महिला के शरीर में हॉर्मोन्स में बदलाव होते हैं।महिला को प्रेगनेंसी के 1 सप्ताह के बाद स्तनों में इस तरह के परिवर्तन का अनुभव होता हैं।महिला को इस तरह की समस्या प्रेगनेंसी के पहले तिमाही में सबसे ज्यादा होती है,पहले तिमाही के बाद यह समस्या बहुत कम हो जाती हैं।

ये भी पढ़े :-अच्छी सेहत कैसे बनायें!5 जरुरी टिप्स 

5.महिला को थकान महसूस होना-

महिला को थकान महसूस होना

प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में महिला को थकान महसूस होती हैं,क्योंकि इस दौरान महिला के शरीर में कई परिवर्तन होते हैं जिससे ज्यादातर महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान थकान महसूस होती हैं।प्रेगनेंसी के शुरुवाती दिनों से ही महिला का शरीर शिशु के लिए तैयार होना शुरू हो जाता हैं जिससे महिला को थकान महसूस होना सामान्य बात हैं।ऐसे में महिला लेटना, बैठना और आराम करना पसंद करने लगती हैं।पहली और तीसरी तिमाही में महिला को थकान महसूस होना एक आम समस्या होती हैं।

 

इस लेख में प्रेगनेंसी के शुरुवाती 5 मुख्य लक्षण के बारे में बेहतर जानकारी देने की कोशिश की गई हैं आशा करते हैं ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद हो और आपका जीवन सुखी व हेल्दी रहें और इसी तरह स्वास्थ्य सम्बंधित नई-नई जानकारियों के लिए INDIAN हेल्थ गुरु को सब्सक्राइब करें।

नोट:-यह कहना भी पूरी तरह ठीक नहीं होगा की प्रेगनेंसी के  शुरुवाती लक्षण जरूर महसूस होते हैं।लेकिन अगर आपको शरीर में इस तरह के लक्षण या परिवर्तन दिखाई देते हैं तो आपको एक बार प्रेगनेंसी टेस्ट कराना बहुत जरूरी हैं।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of