गले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार

जानिए गले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार

बिमारियां और उपचार

गले मे दर्द होने पर,गले मे खराश,जलन,सूजन,खुजली जैसे कई लक्षण दिखाई देते हैं।कई सामान्य संक्रमण होते हैं जिनके कारण गले में दर्द हो सकता हैं।गले में दर्द से राहत पाने के लिए कई ऐसे घरेलू उपचार होते है जो हमारे रसोई घर में ही उपलब्ध होते हैं।जिनसे हम आसानी से गले में दर्द से निजात पा सकते हैं और गले में दर्द से होने वाली समस्याओं को घरेलू उपचार से ठीक कर सकते हैं।आइये जाने…

गले में दर्द क्या हैं?

गले में दर्द का होना ‘फैरिन्जाइटिस’ का प्राथमिक लक्षण माना जाता हैं।इसमें गले मे जलन,सूजन,खराश होता हैं।सामान्यतः चिकित्सक ‘गले में दर्द’ और फैरिन्जाइटिस दोनों शब्दो को एक दूसरे की जगह पर इस्तेमाल करते हैं।क्योंकि ‘गले मे दर्द’ और फैरिन्जाइटिस को अक्सर एक ही माना जाता हैं।गले मे दर्द का सामान्य कारण वायरल संक्रमण को माना जाता हैं।

गले में दर्द के लक्षण

गले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार

 गले में दर्द के कुछ सामान्य लक्षण-

●गले मे जलन, खुजली या खराश का होना।

●गले का सूखना।

●थूक निगलने में कठिनाई होना।

●भोजन निगले में दर्द होना।

●बोलने में कठिनाई होना।

●गला जल्दी सूख जाना।

●गले मे टॉन्सिल में सूजन और लाल होना।

●जबड़े की ग्रन्थियों में सूजन व दर्द होना।

●आवाज में धीमापन होना।

 

गले में दर्द में कारण

गले मे दर्द के मुख्य कारण वायरल संक्रमण,बैक्टीरियल संक्रमण अन्य कई कारण हैं आइये जाने विस्तार से गले में दर्द के कारण

1.बैक्टीरियल संक्रमण गले में दर्द का पहला मुख्य कारण

गले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार

बैक्टीरियल संक्रमण में गले में अनेक प्रकार से दर्द और परेशानियां होती हैं जो निम्न हैं…

काली खांसीइस संक्रमण में गले के स्वसन तंत्र में दर्द होता हैं।गले में संक्रमण के कारण सांस लेने में बहुत परेशानी होती है।

●स्ट्रेप गला-यह बैक्टीरियल संक्रमण ग्रुप ए स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया के कारण होता हैं।

●डिप्थीरियायह एक स्वसन से सम्बंधित गंभीर बीमारी हैं जो बैक्टीरियल संक्रमण संक्रमण के कारण होती हैं,जिसमें गले मे दर्द और सांस लेने में समस्या होती हैं।

2.वायरल संक्रमणगले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार

वायरल संक्रमण के कारण शरीर में अनेक बीमारियां हो सकती हैं, जिसके कारण गले में दर्द होने की संभावना रहती हैं।वायरल संक्रमण के कारण निम्न बीमारियां होती हैं..

●सामान्य सर्दी-जुकाम

●खसरा

●फ्लू

●चिकन पॉक्स

●मोनो

गले मे दर्द के अन्य कारण

●एलर्जी के कारण- धूल,बाहरी प्रदूषण,पराग इत्यादी से से गले में एलर्जी हो सकती हैं जिसके कारण गले में दर्द होता है।

●नशीले पदार्थो के कारण- नशीले पदार्थो का अत्यधिक सेवन करने से गले में संक्रमण हो सकता जिससे गले में सांस लेने में बहुत परेशानी होती हैं,नशीले पदार्थ तम्बाकू, धूम्रपान,अनेक कैमिकलयुक्त नशीले पदार्थ है।

●शुष्कता के कारण-आस-पास के हवा के शुष्क होने के कारण गले मे सूखापन, जलन आदि समस्याएं होती हैं।

●HIV संक्रमण के कारण-अगर कोई व्यक्ति HIV संक्रमण से संक्रमित होता हैं उसके संपर्क में आने से गले में दर्द की समस्या हो सकती हैं।

 

गले में दर्द के आसान घरेलू उपचार

गले में दर्द से छुटकारा पाने के लिए अनेक ऐसे घरेलू नुस्खे होते हैं,जो हमारे रसोई घर में ही उपलब्ध होते हैं और हमारे लिए बहुत फायदेमंद होते हैं,जिनका हमारे शरीर में कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता हैं।आइए जाने गले में दर्द के आसन घरेलू उपचार…..

●हल्दी-गले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार गले मे दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार

हल्दी गले के दर्द से राहत पाने के लिए बहुत ही आसान घरेलू चमत्कारी उपचार है।हल्दी में कई ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो शरीर की कई बीमारियों से निजात दिलाने सहायक होता हैं।हल्दी में एंटीसेप्टिक और सूजन विरोधी गुण पाए जाते हैं,जो गले में दर्द से बहुत राहत दिलाने का काम करता हैं।इसका सेवन चाय या दूध में डालकर कर सकते है।

●अदरक-हल्दी गले के दर्द से राहत पाने के लिए बहुत ही आसान घरेलू चमत्कारी उपचार है।अदरक में भी एंटीसेप्टिक और सूजन विरोधी गुण पाए जाते हैं,जो गले में दर्द से राहत दिलाने में बहुत फायदेमंद होता हैं।अदरक का सेवन कई प्रकार से किया जा सकता हैं,जैसे चाय के साथ,शहद के साथ।

●अनार का जूस-अनेक अध्ययनों से पता चला हैं की अनार का जूस संक्रमण से होने वाली बीमारियों में बहुत फायदेमंद होता हैं,इसलिए ये गले में संक्रमण से होने वाले दर्द,सूजन में बहुत ही लाभकारी होता हैं।

●शहद-

शहद में बहुत ऐसे गुणकारी औषधीय गुण पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होते हैं।शोधकर्ताओं ने शहद में बहुत सारे परीक्षण किये हैं जिससे ये पता चलता हैं की शहद के सेवन से संक्रमण से होने वाली समस्याओं का उपचार किया जा सकता हैं।इसलिए शहद गले में दर्द से बहुत राहत दिलाने का काम करता हैं।

●केले का सेवन-

केला हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है,ये स्वास्थ्यवर्धक फल होने के साथ ही एक नरम फल होता हैं जिसके सेवन से गले में संक्रमण और जलम जैसी समस्याएं पैदा नहीं होने देता हैं।

●नरम और नम खाद्य पदार्थनरम और नम खाद्य पदार्थ–नरम और नम खाद्य पदार्थ गले में दर्द से बहुत राहत दिलाने का काम करते है क्योंकि इन खाद्य पदार्थो का सेवन हम आसानी से कर सकते हैं जिससे गले में कोई भी परेशानी नहीं होती हैं और गले में दर्द से जल्दी छुटकारा मिल सकता हैं।

इस लेख में गले में दर्द के लक्षण,कारण और आसान घरेलू उपचार के बारे में बेहतर जानकारी देने की कोशिश की गई हैं आशा करते हैं ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद हो और आपका जीवन सुखी व हेल्दी रहें।इसी तरह स्वास्थ्य सम्बंधित नई-नई जानकारियों के लिए INDIAN हेल्थ गुरु को सब्सक्राइब करें।

 नोट:-इस लेख में केवल स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी दी गई हैं,स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी जानकारी का उपयोग करने से पहले एक अच्छे चिकित्सक की सलाह लेना बहुत जरूरी हैं।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of